कई राज्यों में शिक्षक और छात्रों कोरोना की चपेट में, उत्तराखंड में भाजपा नेता ने गंवाई जान

नई दिल्ली। वैक्सीन बनने में देरी के कारण शिक्षक और छात्र लगातार कोरोना संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। बीते दो नवंबर को ज्यादातर राज्यों ने विशेष सतर्कता बरतते हुए स्कूल खोले थे। पर सप्ताहभर में ही उत्तराखंड और आंध्र प्रदेश में संक्रमण के चलते स्कूल बंद करने पड़े। वहीं, हिमाचल प्रदेश ने पूरे राज्य में शिक्षा संस्थान बंद कर दिए हैं। आंध्र प्रदेश में तो एक शिक्षक की कोविड से मौत भी हो चुकी है।

वहीं, ओडिशा सरकार ने दूसरी लहर की आशंका को देखते हुए दोबारा स्कूल खोलने का फैसला वापस ले लिया। वहीं उत्तराखंड के भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह जीना का दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में निधन हो गया है। विधायक कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए थे। जिसके बाद उन्हें दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

यहां दो नवबंर को स्कूल खुलने के बाद से 600 विद्यार्थी और 830 शिक्षक संक्रमित हो चुके हैं। चार दिन पहले यहां के चित्तूर जिले में कोविड-19 से एक शिक्षक की मौत हो गई जबकि अब तक जिले के 150 शिक्षक संक्रमित हो चुके हैं। प्रशासन का कहना है कि ज्यादा बच्चों में संक्रमण के लक्षण नहीं थे। स्कूलों को कुछ दिनों के लिए बंद भी किया गया। संक्रमण को लेकर शिक्षकों व अभिभावकों के बीच चिंता है हालांकि, सरकार का कहना है कि वह स्कूल दोबारा बंद करने पर विचार नहीं कर रही है।

मंडी जिले में दो नवंबर को स्कूल खुलने के चार दिन बाद ही संक्रमण के 97 मामले सामने आ गए। इनमें से 92 मामले सोझा स्थित तिब्बती स्कूल से जुड़े हैं, जिसमें सभी बच्चे संक्रमित पाए गए। हालांकि, सभी एसिम्प्टोमैटिक थे। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने यहां स्कूल, कालेजों व अन्य संस्थानों को 25 नवंबर तक बंद कर दिया है।

यहां पौड़ी जिले के 20 सरकारी स्कूलों के 80 शिक्षक संक्रमित पाए गए। इसके बाद सरकार ने तुरंत कार्रवाई करते हुए पांच ब्लॉकों के 84 स्कूलों को पांच दिन के लिए बंद कर दिया है। उत्तराखंड के स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि 13 जिलों में ऑन ड्यूटी शिक्षकों की कोविड जांच कराई जा रही है।

यहां सरकार ने 15 नवंबर से स्कूल खोले जाने का निर्णय वापस ले लिया है। सरकार का कहना है कि देश में 15 दिसंबर के बाद दूसरी लहर आने की आशंका को लेकर यह निर्णय किया गया।यहां 16 अक्तूबर को 10वीं व 12वीं कक्षाओं के लिए स्कूल खोले गए पर कुछ दिनों में ही छात्रों के संक्रमण के मामले आने पर 25 अक्तूबर को स्कूल दोबारा बंद कर दिए गए। यहां भी दो नवंबर से स्कूल खोल दिए गए हालांकि, अभी तक संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया है। पर विशेषज्ञों को डर है कि स्कूलों में बच्चों के आधार नंबर जारी करवाने के लिए जो मुहिम चलाई जा रही है, उससे संक्रमण के मामले आ सकते हैं।

महाराष्ट्र : सरकार ने कहा, दिवाली बाद 23 नवंबर से दोबारा कक्षाएं शुरू होंगी।
गुजरात : यहां 10वीं व 12वीं कक्षा के लिए 23 नवंबर से स्कूल खोलने की तैयारी।
त्रिपुरा : एक दिसंबर से 10वीं, 12वीं व कॉलेजों की कक्षाएं संचालित होंगी।

इन राज्यों में लगातार बंदी
दिल्ली, कर्नाटक, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में स्कूल लगातार बंद हैं।

(cvn24.com से सीधे जुड़िए और शेयर कीजिये खबर। अपनी खबर ई-मेल cvn24.media@gmail.com, WhatsApp के इस नंबर 98262 74657 पर या SMS कर सकते हैं।) 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *