बड़े भाई की भूमिका में आए मोदी, बोले – नीतीश होंगे बिहार के सीएम

नई दिल्ली। बिहार चुनाव में पार्टी का कद घटने से दुखी नीतीश कुमार की वेदना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समझ गए हैं। उन्होंने बड़े भाई की भूमिका निभाते हुए स्पष्ट कर दिया है कि बिहार आगे भी नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही आगे बढ़ेगा। सूत्रों की मानें तो नीतीश कुमार एलजेपी चीफ चिराग पासवान की चुनावी चाल से इतने आहत हैं कि वो फिर से मुख्यमंत्री पद का शपथ लेने से संकोच कर रहे हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार

अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस ने बीजेपी के एक नेता के हवाले से कहा है कि नीतीश कुमार अपनी पार्टी जेडीयू के निराशाजनक प्रदर्शन से हतप्रभ हैं और वो सीएम की कुर्सी फिर से संभालना नहीं चाहते। बीजेपी नेता ने अपना नाम गुप्त रखने की शर्त पर अखबार से कहा, ‘वो (नीतीश) इस बात से काफी परेशान हैं कि चिराग ने जेडीयू के कम-से-कम 25 से 30 कैंडिडेट की जीत की उम्मीद पर पानी फेर दिया। हमने उनसे कहा कि वो सीएम बने रहें, भले ही बीजेपी गठबंधन की बड़ी पार्टनर के तौर पर उभरी है।’

15 साल बाद जेडीयू का खराब प्रदर्शन

243 सीटों वाली बिहार विधानसभा में एनडीए को 125 सीटें जबकि महागठबंधन को 110 सीटें मिली हैं। बीजेपी 74 सीटों के साथ एनडीए घटक दलों में टॉप पर है जबकि जेडीयू को 43 सीटों पर सिमट गया है। वहीं, आरजेडी के हिस्से 75 सीटें आई हैं और वह बिहार की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है जबकि उसकी सहयोगी कांग्रेस पार्टी को 19 सीटें और वामपंथी दलों को 16 सीटें मिली हैं। 2005 के विधानसभा चुनाव से अब तक जेडीयू का यह सबसे खराब प्रदर्शन है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *