ट्रैफिक नियमों की धज्जियां उड़ाने पर थानेदार बनी बेटी ने काटा पिता का चालान

नई दिल्ली। यूपी के मैनपुरी जिले में शनिवार को नया प्रयोग हुआ। दिन के लिए बेटियों का हुक्म चला। मिशन शक्ति अभियान के तहत जिले के 14 थानों में छात्राओं को एक दिन के लिए थानेदार बनाया गया। थाना प्रभारी के रूप में छात्राओं ने जनता की शिकायतों को गंभीरता से सुना। इसके बाद अपने-अपने क्षेत्र में चेकिंग की। इस दौरान थानेदार बनी एक बेटी ने खाकी का फर्ज निभाते हुए अपने पिता का चालान काटा। वह बिना मास्क के चौराहे पर घूम रहे थे। इस कार्रवाई से जहां पुलिसकर्मी हैरान रह गए।

शहर कोतवाली में एक दिन की थानेदार बनीं सदर बाजार निवासी हनी शर्मा ने जनता की शिकायतों को सुना। सीयूजी नंबर पर आने वाली शिकायतों को संबंधित चौकी इंचार्ज को मौके पर जाकर शिकायत निस्तारण के निर्देश दिए। इसके बाद भांवत चौराहा पर वाहन चेकिंग अभियान के दौरान कागजात आदि चेक किए। लोगों के हेलमेट व मास्क लगाकर चलने की बात कही।

 

हनी शर्मा ने शाम के समय पुलिसकर्मियों के साथ बाजार और बस अड्डे के पास चेकिंग की। इस दौरान हनी के पिता कृष्णकांत शर्मा भी बस अड्डे के पास नजर आए। वह बिना मास्क के ही घूम रहे थे। थानेदार बनीं बेटी ने मास्क न लगाने पर पिता का चालान कर दिया। यह नजारा देख साथ चल रहे पुलिसकर्मी भी चौंक गए।

महिला थाने में एक दिन की प्रभारी बनीं वंशिका चौहान निवासी राठी मिल ने सबसे पहले कार्यालय की व्यवस्थाओं को देखा। कार्यालय में तैनात महिला पुलिसकर्मियों से कार्य संबंधी जानकारी ली। इस दौरान प्रभारी निरीक्षक महिला थाना एकता सिंह भी मौजूद रहीं। करहल थाने में कस्बा निवासी एक दिन के थानेदार मौली चतुर्वेदी ने जन संवाद किया। प्रार्थना पत्रों पर अधीनस्थों को मौके पर भेजकर स्थिति से अवगत कराने की बात कही।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *