हिन्दु देवी देवता का अपमान करने वाले फेमस हेयर ड्रेसर जावेद हबीब को पड़ा दिल का दौरा

हैदराबाद: हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब के खिलाफ यहां दो शिकायतें दर्ज की गयी हैं, जिनमें उन पर अपने सैलून के लिए एक समाचार पत्र में दिये गये विज्ञापन में ‘हिंदू देवी-देवताओं’ का अपमान करने का आरोप लगाया गया है. पुलिस ने बताया कि वह शिकायतों का सत्यापन कर रही है और कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है.

अधिवक्ता के करुणा सागर ने बुधवार को सैदाबाद पुलिस थाने में एक शिकायत दर्ज करायी है, जिसमें कहा गया है कि उन्होंने सोशल मीडिया पर जावेद हबीब द्वारा एक समाचार पत्र में दिये गये विज्ञापन की तस्वीर देखी, जिसमें हिंदू देवी-देवताओं का अपमानजनक तरीके से चित्रण किया गया था. उन्होंने कहा कि विज्ञापन में कैप्शन लिखा था ‘भगवान भी जेएच सैलून जाते हैं.’ इस कैप्शन ने उनकी धार्मिक भावनाओं को आहत किया. सागर ने शिकायत में जावेद के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

इसे भी पढ़ें: हेयर सैलून के उद्घाटन के ठीक पहले फेमस हेयर ड्रेसर जावेद हबीब को पड़ा दिल का दौरा
बहरहाल, सैदाबाद पुलिस थाने के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है. हम सत्यापन कर रहे हैं. इसी मुद्दे पर जावेद के खिलाफ एक अन्य शिकायत हैदराबाद विश्वविद्यालय के एक छात्र ने गाचीबावली पुलिस में दर्ज करायी है. इस छात्र ने भी जावेद पर उसकी धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाया है. गाचीबावली पुलिस थाने के इंस्पेक्टर एस चंद्रकांत ने कहा कि शिकायत के बाद उन्होंने जनरल डायरी (जीडी) प्रविष्टि तैयार की और कानूनी सलाह ले रहे हैं.

ट्विटर पर वीडियो जारी कर इबीब ने मांगी माफी
जावेद ने हालांकि अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो संदेश के जरिये इस मुद्दे पर माफी मांगी है. उन्होंने कहा है कि हमारे एक पार्टनर ने कोलकाता में मेरी अनुमति के बिना एक विज्ञापन जारी किया. हमारी व्यवस्था फ्रेंचाइजी के माध्यम से है और भावनाएं आहत हुई हैं. मैं 25 साल से काम कर रहा हूं. मेरा एकमात्र धर्म कैंची है. मैं माफी मांगता हूं.

सोशल मीडिया पर पत्र भी किया जारी
ऐसा ही एक पत्र जावेद हबीब हेयर एंड ब्यूटी लिमिटेड के नाम से सोशल मीडिया हैंडल पर पोस्ट हुआ है. पत्र में कहा गया है कि हमारा इरादा कभी भी किसी भी समुदाय की भावनाओं को आहत करने का नहीं रहा. पश्चिम बंगाल में कुछ स्थानीय लोगों ने हमारी कंपनी को जानकारी दिये बिना यह किया है. हम ऐसी सभी विज्ञापन सामग्री को मीडिया से हटाने का वचन देते हैं. पत्र में आगे कहा गया है कि अगर हमारे विज्ञापन अभियान से किसी की भी भावनाएं आहत हुई हैं, तो इसके लिए हम सार्वजनिक रूप से माफी मांगते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *