योगी सरकार ने कसा शिकंजा: सुपरटेक और आम्रपाली समेत छह बिल्डरों के खिलाफ 13 एफआईआर दर्ज

नई दिल्ली: 

रियल स्टेट क्षेत्र की दिग्गज कंपनी आम्रपाली ग्रुप पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए हेड ऑफिस को सील कर दिया है।

साथ ही पुलिस ने आम्रपाली ग्रुप के सीईओ ऋतिक कुमार और मैनेजिंग डॉयरेक्टर (एमडी) निशांत मुकुल को गिरप्तार किया है। ऋतिक कुमार आम्रपाली ग्रुप के मालिक अनिल शर्मा के दामाद हैं।

गिरफ्तारी के बाद आम्रपाली के दोनों अधिकारियों को कोर्ट में पेश किया गया। जहां कोर्ट ने दोनों अधिकारियों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

आम्रपाली ग्रुप पर 4 करोड़ रुपये का लेबर सेस नहीं चुकाने का आरोप है।

आपको बता दें कि पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने धांधली करने वाली रियल स्टेट कंपनियों को चेताया था।

कनफेडरेशन ऑफ रियल एस्टेट डिवेलपर्स एसोसिएशन्स ऑफ इंडिया (क्रेडाई) के सम्मेलन में योगी ने कहा था, ‘रियल एस्टेट क्षेत्र द्वारा योजनाओं को आधा-अधूरा छोड़ देना सबसे बड़ा संकट है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में यही समस्या सामने आ रही है। लगभग डेढ़ लाख खरीदारों को धनराशि अदा करने के बाद भी घर नहीं मिल पा रहा है। इससे विश्वसनीयता का संकट पैदा हो गया है।’

मुख्यमंत्री ने कहा था, ‘प्रदेश सरकार के प्रयास पर कुछ बिल्डरों ने सकारात्मक रुख अपनाया और आवास देने की समयसीमा तय कर दी, जबकि कुछ बिल्डर कोई कदम नहीं उठा रहे हैं। संवाद से रास्ता न निकलने पर प्रदेश सरकार को सख्त कदम उठाना पड़ेगा। सरकार की अपील है कि कार्रवाई की स्थिति न उत्पन्न हो।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *