मेक्सिको तेल संयंत्र में भीषण धमाका; आसमान में छाया ‘रसायनों का बादल’

मेक्सिको सिटी: दक्षिण पूर्वी मेक्सिको में एक तेल संयंत्र में भीषण विस्फोट से कम से कम तीन कर्मियों की मौत हो गई और 58 अन्य लोग घायल हो गए। यह जानकारी अधिकारियों और सरकारी पेट्रोलियम कंपनी पेमेक्स ने दी है। कोटजाकोलकोस शहर में स्थित पाजारिटोस नाम से जाने जाने वाले संयंत्र से जहरीले धुएं का उंचा गुबार उठता दिख रहा है।

विस्फोट इतना जबरदस्त था कि उसका असर आस पास के 10 किलोमीटर तक के इलाके में महसूस किया गया। विस्फोट के कारण कल निकटवर्ती स्कूलों और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को खाली कराना पड़ा। पेट्रोक्विमिका मेक्सिकाना डी विनिलो (पीएमवी) संयंत्र में विस्फोट के कारण का तत्काल पता नहीं चल पाया है। इस संयंत्र पर पेमेक्स का संयुक्त मालिकाना हक है। वेराक्रूज के गवर्नर जेवियर ड्युर्ते ने मिलेनियो टेलीविजन को बताया कि संयंत्र में विस्फोट से तीन लोगों की मौत हो गई। पेमेक्स के अनुसार 58 अन्य लोग घायल हुए हैं। ड्युर्ते घटनास्थल की ओर रवाना हो गए। उन्होंने बताया कि विस्फोट ‘‘बहुत जबरदस्त’’ था। दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पा लिया है।

ड्युर्ते ने कहा कि दुर्घटनास्थल के आस पास रह रहे लोगों को अपने घरों के भीतर रहना चाहिए क्योंकि ‘रसायनों का बादल’ छाया हुआ है। कोटजाकोलकोस और पांच निकटवर्ती समुदायों में स्कूल बंद कर दिए गए हैं। राष्ट्रपति एनरिके पेना नीएटो ने ट्विटर पर कहा कि सरकार ‘‘प्रभावित कर्मियों और दुर्घटनास्थल के आस पास के लोगों’’ को मदद मुहैया कराएगी। मेक्सिको में तेल संयंत्रों में आग लगने की दुर्घटनाएं अक्सर होती रहती हैं। कांपेचे के तट पर पेमेक्स तेल संयंत्र में फरवरी में आग लगने से दो लोगों की मौत हो गई थी और कम से कम सात लोग झुलस गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *