ब्रिक्स समिट में भाग लेने के लिए चीन पहुंचे पीएम मोदी , संभावित कार्यक्रम की जानकारी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ब्रिक्स सम्मेलन में भाग लेने के लिए रविवार को चीन के श्यामन पहुंचे। यहां पहुंचने पर प्रधानमंत्री का भारतीय समुदाय के लोगों ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। प्रधानमंत्री ने यह उम्मीद भी जताई कि इस यात्रा के दौरान ब्रिक्स देशों के बीच साझेदारी को मजबूत बनाने के एजेंडे पर रचनात्मक चर्चा होगी। मंगलवार (5 सितंबर) को मोदी चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय मुलाकात कर सकते हैं।

अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान मोदी के रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और ब्रिक्स के अन्य नेताओं के साथ कई द्विपक्षीय बैठकें करने की भी उम्मीद है।

आतंकवाद के खिलाफ समग्र रुख अपनाए ब्रिक्स : चीन 
चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने रविवार को नौवें वार्षिक ब्रिक्स सम्मेलन का उद्घाटन किया। साथ ही उन्होंने सदस्य देशों से अपने मतभेद दूर करने, आपसी विश्वास एवं रणनीतिक संवाद बढ़ाकर एक दूसरी की चिंताओं पर ध्यान देने को कहा। इसके अलावा ब्रिक्स बिजनेस फोरम का उद्घाटन करते हुए कहा कि सदस्य देशों को सभी तरह के आतंकवाद से लड़ने के लिए एक समग्र रुख अपनाना चाहिए और इसके मूल कारणों को हल करना चाहिए।

चक्रवाती तूफान से तैयारियां प्रभावित : 
फुजियान प्रांत के दक्षिणपूर्वी शहर में आयोजित समारोह ‘मवार’ चक्रवाती तूफान के कारण हुई बारिश के बीच शुरू हुआ। तूफान की वजह से सम्मेलन की तैयारियां व्यापक रूप से बाधित हुईं और यातायात भी काफी प्रभावित हुआ।

चीन द्वारा आमंत्रित मिस्र जैसे देशों के नेताओं से भी मोदी की मुलाकात होने की उम्मीद है। चीन ने मिस्र, केन्या, तजाकिस्तान, मेक्सिको और थाईलैंड को सम्मेलन में अतिथि देशों के रूप में आमंत्रित किया है।

प्रधानमंत्री ने इस चीनी शहर के अपने दौरे के मद्देनजर कहा ‘मैं गोवा शिखर सम्मेलन के नतीजों के आधार पर आगे बढ़ने को उत्सुक हूं। मैं रचनात्मक चर्चा और सकारात्मक नतीजे के प्रति भी उत्सुक हूं जो चीन की अध्यक्षता में मजबूत ब्रिक्स भागीदारी के एजेंडा का समर्थन करेगा।

प्रधानमंत्री ब्राजील-रूस-भारत-चीन-दक्षिण अफ्रीका (ब्रिक्स) सम्मेलन में भाग लेने के लिए उस समय पहुंचे हैं जब कुछ ही दिन पहले भारत और चीन के बीच डोकलाम मुद्दे पर 73 दिनों से जारी गतिरोध समाप्त हुआ है और दोनों देशों ने अपनी सेनाएं डोकलाम से हटाने पर सहमति जताई।

मोदी ने ब्रिक्स पर कहा कि उनके पास ब्रिक्स सम्मेलन के इतर नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठकें करने का अवसर है। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘भारत ब्रिक्स की भूमिका को बहुत महत्व देता है जिसने प्रगति और शांति के लिए अपनी साझेदारी का दूसरा दशक शुरू किया है। विश्व में शांति और सुरक्षा को बनाये रखने तथा वैश्विक चुनौतियों से निपटने में ब्रिक्स की महत्वपूर्ण भूमिका है।’

मोदी ने कहा कि पांच सितम्बर को चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मेजबानी में होने वाली ‘इमर्जिंग मार्केट एंड डेवलपिंग कंट्री डायलॉग’ में वह ब्रिक्स के साझेदारों समेत नौ अन्य देशों के नेताओं के साथ बातचीत को लेकर उत्सुक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *