नक्सलियों से मुठभेड़ में 10 कोबरा जवान शहीद, एक के बाद एक हुए 30 लैंडमाइंस विस्फोट

गया-औरंगाबाद की सीमा पर डुमरी नाला के पास ऑपरेशन से लौट रहे कोबारा जवानों पर नक्सलियों ने हमला कर दिया। एक के बाद एक कई लैंडमाइंस विस्फोट में आठ जवान शहीद हो गए। जवाबी कार्रवाई के दौरान सुरक्षाबलों ने भी चार नक्सलियों को मार गिराया। इनमें तीन के शव बरामद हो गए हैं। दुर्गम इलाका होने की वजह से देर रात तक अभियान के लिए गए तमाम सुरक्षाबल वापस नहीं लौट थे। दो शहीद जवानों के शव पहाड़ से लेकर जवान नीचे पहुंचे गए थे। तीन घायल जवानों को इलाज के लिए हेलीकॉप्टर से पटना लाया गया है।

नक्सलियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना के बाद कोबरा की चार टीम रविवार को बांके बाजार थाना क्षेत्र के जंगलों में ऑपरेशन के लिए गई थी। सुबह जब टीम लौट रही थी तभी दिन के करीब 11.30 बेज डुमरी नाला के पास नक्सलियों ने लैंडमाइंस विस्फोट करना शुरू कर दिया। साथ ही उनपर गोलीबारी भी शुरू कर दी। कोबरा ने जवाबी कार्रवाई की, जिसमें कई नक्सलियों को गोली लगी। चार नक्सली मारे गए। इनमें तीन का शव बरामद हुआ है।

30 के करीब लैंडमाइंस विस्फोट हुए
नक्सलियों ने सुरक्षाबलों को घेरने के लिए जबर्दश्त तैयारी कर रखी थी। डुमरी नाला पर जब सुरक्षाबल पहुंचा तो उन्हें निशाना बनाने के लिए एक के बाद एक करीब 30 लैंडमाइंस विस्फोट किया गया। चारों ओर से हमला होने के बावजूद जवानों ने मोर्चा संभाला और उनकी जवाबी कार्रवाई में कई नक्सलियों को गोली लगी। हालांकि लैंडमाइंस की चपेट में आने के चलते आठ जवान शहीद हो गए। वहीं पांच जख्मी हैं। जिन नक्सलियों के शव मिले हैं उनकी पहचान नहीं हो पाई है। दोपहर में शुरू हुई मुठभेड़ देर शाम तक चलती रही। सीआरपीएफ और जिला पुलिस के जवान के वहां पहुंचने के बाद कोबरा की टीम वापस हुई। पटना से आईजी ऑपरेशन कुंदन कृष्णन भी गया पहुंच गए थे और जवानों को पहाड़ और जंगल से निकालने की मुहिम संभाल ली थी।

दो हेलीकॉप्टर मंगाए गए

मुठभेड़ की खबर के बाद तत्काल एक हेलीकॉप्टर रांची से मंगाया गया। इसे पहले घटनास्थल के आसपास उतारने की कोशिश की गई, लेकिन कामयाबी नहीं मिली। गया में भी मौसम खराब होने के चलते हेलीकॉप्टर को नहीं उतारा जा सका। बाद में इसे पटना में स्टैंडबाई में रखा गया। रात 9 बजे के करीब हेलीकॉप्टर गया भेजा गया। इसी बीच रांची से एक और हेलीकॉप्टर मंगाया गया। तीन जवानों को बेहतर इलाज के लिए हेलीकॉप्टर से देर रात पटना के एक निजी लाया गया। दो का इलाज गया में ही किया जा रहा है।
22 फरवरी 13- गया के रौशनगंज थाना की जीप उड़ाई। एएसआई समेत पांच की मौत
जून 13-धनबाद-पटना इंटरसिटी पर हमले में दो जवान शहीद। दारोगा की भी मौत
17 जुलाई13-गोह में निर्माणाधीन कंपनी के बेस कैंप पर हमला। तीन सैप जवान शहीद
30 नवम्बर13-साहेबगंज इंटरसिटी ट्रेन पर हमले में जीआरपी के तीन जवान शहीद
3 दिसम्बर13-टंडवा थाने की जीप उड़ाई। थानाप्रभारी समेत आठ जवान शहीद
7 अप्रैल 14-औरंगाबाद मे ढिबरा में लैंडमाइंस विस्फोट में सीआरपीएफ के डिप्टी कमांडेंट समेत दो शहीद
10 अप्रैल 14-मुंगेर के हवेलीखड़पुर में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के दो जवान शहीद। आधा दर्जन जख्मी
4 जुलाई 14- जुमई में सीआरपीएफ की 7 वीं बटालियन के द्वितीय कमांड अफसर हीरा कुमार झा शहीद
19 जून 16- औरंगाबाद के देव में कोबरा का जवान अपूर्वा डेका शहीद, दो जवान जख्मी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *