कमरे में सिर्फ लुंगी पहने बैठा था प्रोड्यूसर, कास्टिंग काउच पर खुलकर बोली ये एक्ट्रेस

समय समय पर बॉलीवुड की अभिनेत्रियों ने निर्माता और निर्देशकों पर फिल्मों में काम देने के लिए कास्टिंग काउच का इलज़ाम लगाया है। कास्टिंग काउच का मतलब होता है फिल्मों में रोल के बदले शारीरिक संबंध बनाना। बहुत सारी अभिनेत्रियाँ ऐसी है जिन्होंने खुलकर सबके सामने इस बारे में बताया है। ऐसी ही एक एक्ट्रेस है टिस्का चोपड़ा।

टिस्का चोपड़ा के साथ भी एक प्रोडूसर ने फिल्म की स्क्रिप्ट डिस्कस करने के लिए अकेले में समय बिताने की बात कही थी। इस बारे में खुद टिस्का ने जानकारी दी। यूट्यूब पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे टिस्का ने कहा है की उनकी डेब्यू फिल्म रिलीज़ होने के बाद कई दिनों तक उन्हें कोई दूसरी फिल्म नहीं मिली। कुछ समय बाद एक बड़े प्रोडूसर ने उनसे अपनी अगली फिल्म के लिए संपर्क किया। निर्माता ने उसे कॉल कर अपने ऑफिस में बुलाया और उसे अपनी फिल्म के लिए फाइनल किया। फिल्म की शुरुवाती शूटिंग मुंबई में हुई मगर फिल्म का दूसरा शिड्यूल आउटडोर था।आउटडोर शूट के दौरान प्रोडूसर ने टिस्का को स्क्रिप्ट पर चर्चा करने के लिए रात को अपने रूम में बुलाया। टिस्का को डर लगा, उसे पहले से ही प्रोडूसर की आदत के बारे में पता था। वह कैसे भी अपने आपको बचाना चाहती थी, इसीलिए वह चॉकलेट और बुके लेकर निर्माता के रूम में गई। वहा उसने देखा की निर्माता मरून रंग की लुंगी पहने बैठा था। वह इससे बचने के लिए पहले से ही तैयार थी इसलिए उन्होंने कमरे में जाने से पहले थोड़ी चालाकी दिखाई और होटल के रिसेप्शनिस्ट से अपनी कॉल डायरेक्टर के रूम पर ट्रांसफर करा दिया था। ऐसे में कुछ देर ठहरने के बाद कमरे का फोन बजा। वह कॉल डायरेक्टर के बेटे का था, जो उन्हें टीम के साथ डिनर के लिए बुला रहा था। इस तरह वह फोन का बहाना देकर वहाँ से निकल गई।टिस्का ने उस प्रोड्यूसर पहचान ना बताते हुए उसे रैपटाइल नाम दिया है।’ उन कॉल्स की वजह से उसके घिनौने इरादे पूरे नहीं हो पाए और टिस्का कास्टिंग काउच की शिकार होने से बच गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *