ईद की नमाज के दौरान बांग्लादेश में फेंके बम, 3 लाख नमाजी थे जमा

पड़ोसी देश बांग्लादेश में ईद की नमाज के दौरान बम धमाका हुआ है. इस धमाके में कम से कम चार लोगों की मौत और 12 लोगों के घायल होने की खबर है. मरने वालों में एक पुलिसकर्मी भी शामिल है. यह धमाका किशोरगंज में हुआ है, जो बांग्लादेश की राजधानी ढाका से 80 किलोमीटर की दूरी पर है.

बांग्लादेश के सूचना मंत्री के मुताबिक एनकाउंटर में एक हमलावर को मार गिराया गया है, वहीं एक हमलावर को सुरक्षाबलों ने जिंदा पकड़ा लिया है.

यह धमाका बांग्लादेश में ईद के सबसे बड़े आयोजन के दौरान हुआ है. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक इस जगह तकरीबन 2 लाख लोग नमाज अदा करने के लिए जुटे थे. धमाके की वजह का अभी तक पता नहीं लग सका है. बता दें कि ढाका में हुए आतंकी हमले के महज 6 दिन बाद ही यह ब्लास्ट हुआ है.

हमला ईद की नमाज शुरू होने से तुरंत पहले हुआ. धमाका शोलकिया ईदगाह मैदान में हुआ है. यहां नमाज के वक्त बम फेंके गए. इस जगह हर साल सबसे ज्यादा लोग ईद की नमाज अदा करने के लिए जुटते हैं. शोलकिया ईदगाह में एक साथ तीन लाख लोग नमाज अदा कर सकते हैं.

हमला शोलकिया ईदगाह के पास सुबह 9.30 बजे अजीम उद्दीन हाई स्कूल में हुआ. जहां एक पुलिसकर्मी के ऊपर क्रूड बम फेंका गया. यह स्कूल शोलकिया ईदगाह से एक किलोमीटर की भी कम दूरी पर है. धमाके की आवाज से नमाज अता करने आए लोगों ने घबराकर इधर-उधर भागना शुरू कर दिया.

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने हमलों की पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि ये आतंकी देश और इस्लाम के दुश्मन हैं और धर्म के अनुयायी नहीं हैं. शेख हसीना ने कहा कि कैसे ये लोग उन लोगों पर हमला कर सकते हैं जो नमाज अदा कर रहे हों?

स्थानीय मीडिया के मुताबिक इस धमाके में दो पुलिसकर्मियों की मौत हो गई. जबकि 12 लोग घायल हुए हैं.

एएनआई के मुताबिक तकरीबब 6-7 युवा लड़कों ने शोलकिया ईदगाह पर हमला किया. जहां तकरीबन 30 हजार लोग ईद की नमाज के लिए जुटे थे. हमलावरों ने बम फेंके और पुलिसवालों पर चाकू से हमला किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *