किशोर कुमार के बंगले पर कंट्रोवर्सी, बिका या नहीं?

सुप्रसिद्ध पार्श्व गायक किशोर कुमार का खंडवा स्थित पैतृक मकान बेचने के ख़िलाफ उनके बेटे अमित कुमार ने कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है. अमित कुमार ने अख़बारों में ज़ाहिर सूचना छपवाई है कि मेरे चचेरे भाई, मेरी इजाज़त के बिना पैतृक मकान बेच रहे हैं. ये साझा संपत्ति है, इसलिए उनकी इजाज़त के बिना बेची नहीं जा सकती. पिछले दिनों ख़बर आयी थी कि उनका ये पैतृक मकान बेच दिया गया है.

ज़ाहिर सूचना में अमित कुमार के हवाले से कहा गया है कि मेरे चचेरे भाई अर्जुन कुमार, पिता अनूप कुमार खंडवा की पैतृक संपत्ति बेचने की कोशिश कर रहे हैं. वो खुद को इस पैतृक संपत्ति का मालिक बता रहे हैं. जबकि खंडवा के रामगंज बुधवारा बाज़ार में ब्लॉक नंबर 44 में मकान नंबर 114 की पैतृक साझा संपत्ति उनके पिता किशोर कुमार के नाम से जानी जाती है. ये संपत्ति अब अमित कुमार और चचेरे भाई अर्जुन कुमार के साझा नाम से लैंड रिकॉर्ड में दर्ज है. इसलिए अर्जुन को अकेले इसे बेचने या किसी और के नाम करने का अधिकार नहीं है. लेकिन अर्जुन कुमार इसे अपने संपत्ति बताकर बेचने की फिराक में हैं. पैतृक मकान का बंटवारा नहीं हुआ है, इसलिए ये अविभाजित है.

ज़ाहिर सूचना में कहा गया कि कोई भी व्यक्ति, संस्था या बैंक अर्जुन कुमार से खंडवा की इस साझा पैतृक संपत्ति के लिए किसी तरह की ख़रीद-बिक्री ना करे. और अगर किसी ने ऐसा किया है तो सारा व्यवहार तत्काल रद्द किया जाए. इस सूचना के बाद भी अगर कोई व्यक्ति अर्जुन कुमार से उस मकान के बारे में कोई व्यवहार करता है तो वो कानून विरुद्ध होगा और उसके लिए अमित कुमार ज़िम्मेदार नहीं होंगे.
हाल ही में ख़बर आयी थी कि खंडवा स्थित किशोर कुमार का 100 साल पुराना पुश्तैनी घर बिक गया है. बताया जा रहा था कि ज़िले के सबसे बड़े व्यापारी अभय जैन ने दिवंगत किशोर कुमार का मकान खरीदा है. बताया ये भी जा रहा था कि मकान ख़रीदने के लिए व्यापारी अभय जैन की किशोर कुमार के परिवार से डील हुई थी.

किशोर कुमार का पैतृक मकान गौरीकुंज खंडवा नगर के बॉम्बे बाज़ार में  है. उन्हें अपनी जन्मभूमि खंडवा से गहरा लगाव था. खंडवा के इसी पैतृक मकान में किशोर दा का जन्म हुआ था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *